Get Latest News, India News, Breaking News, Today's News – TODAYNEWSNETWORK.in

TNN (2)
Home Cities uma bharti: digvijay singh supported bjp leader uma bharti on the demand to open the lock of the ancient shiva temple of raisen : दिग्विजय सिंह ने अब उमा भारती की रायसेन के प्राचीन शिव मंदिर का ताला खोलने की मांग का किया समर्थन

uma bharti: digvijay singh supported bjp leader uma bharti on the demand to open the lock of the ancient shiva temple of raisen : दिग्विजय सिंह ने अब उमा भारती की रायसेन के प्राचीन शिव मंदिर का ताला खोलने की मांग का किया समर्थन

uma bharti: digvijay singh supported bjp leader uma bharti on the demand to open the lock of the ancient shiva temple of raisen : दिग्विजय सिंह ने अब उमा भारती की रायसेन के प्राचीन शिव मंदिर का ताला खोलने की मांग का किया समर्थन


इंदौर: कांग्रेस (Congress) के राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती (BJP Leader Uma Bharti) की रायसेन के प्राचीन शिव मंदिर का ताला खोलने की बहुचर्चित मांग का गुरुवार को समर्थन किया। दिग्विजय सिंह ने कहा कि श्रद्धालुओं की धार्मिक भावनाओं के मद्देनजर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) संरक्षित रायसेन किले के प्राचीन सोमेश्वर धाम स्थित महादेव मंदिर का ताला खोला जाना चाहिए।

दिग्विजय सिंह ने इंदौर में मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘मैं उमा भारती की इस मांग से सहमत हूं कि रायसेन किले के प्राचीन शिव मंदिर का ताला खुलना चाहिए।’ कांग्रेस नेता ने भारती से एक कदम आगे जाते हुए यह मांग भी की कि राज्य की शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को इस प्राचीन शिव मंदिर का जीर्णोद्धार करना चाहिए।

सोमेश्वर महादेव के गर्भगृह में उमा भारती नहीं कर सकी थीं प्रवेश
एएसआई की अनुमति के अभाव में सोमेश्वर धाम के महादेव मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश नहीं कर पाने के बाद भारती ने सोमवार को कहा था, ‘सोमेश्वर महादेव का अभिषेक नहीं कर पाने से मेरे हृदय में गहरा संताप हुआ है। इसलिए अपनी भावना पर नियंत्रण रखने एवं अपने चित्त की शांति के लिए मैंने सोमेश्वर महादेव पर जल चढ़ा लेने तक अन्न त्यागने का फैसला लिया है।’

सोमेश्वर धाम के महादेव मंदिर का ताला केवल महाशिवरात्रि पर ही खुलता है
अधिकारियों ने बताया कि सोमेश्वर धाम के महादेव मंदिर का ताला साल में केवल एक बार महाशिवरात्रि के त्योहार पर खुलता है, जबकि बाकी दिनों में मंदिर-मस्जिद विवाद के चलते मंदिर का गर्भगृह बंद रहता है। मध्यप्रदेश में शराबबंदी को लेकर भारती की पुरानी मांग पर राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने कहा कि गुजरात और बिहार जैसे राज्यों में शराबबंदी ज्यादा सफल नहीं रही है, लेकिन वह इस बात के पक्ष में हैं कि जिन इलाकों में 50 प्रतिशत महिलाएं विरोध करें, वहां से शराब की दुकानें हटनी चाहिए।

गुजरात में शराब का मनचाहा ब्रांड 10 मिनट में मिल जाता है: दिग्विजय
बरसों पहले शराबबंदी कानून लागू करने वाले गुजरात के बारे में वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने दावा किया कि इस सूबे में अवैध तौर पर शराब हासिल करना सबसे आसान है और लोगों को शराब का मनचाहा ब्रांड महज 10 मिनट के भीतर मनचाही जगह पर मिल जाता है। सिंह ने कहा, ‘ऐसी शराबबंदी से केवल कुछ पुलिस अफसरों और नेताओं को ही लाभ होता है। यही हाल बिहार में भी है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here