Get Latest News, India News, Breaking News, Today's News – TODAYNEWSNETWORK.in

TNN (2)
Home Cities Srinagar News: Kashmir Files : दहशतगर्दों का दिल नहीं पसीजा, पुलवामा और कुलगाम में हिंदुओं को फिर बना रहे निशाना – target killing in kashmir rises these days kashmiri hindus and migrants are on target

Srinagar News: Kashmir Files : दहशतगर्दों का दिल नहीं पसीजा, पुलवामा और कुलगाम में हिंदुओं को फिर बना रहे निशाना – target killing in kashmir rises these days kashmiri hindus and migrants are on target

Srinagar News: Kashmir Files : दहशतगर्दों का दिल नहीं पसीजा, पुलवामा और कुलगाम में हिंदुओं को फिर बना रहे निशाना – target killing in kashmir rises these days kashmiri hindus and migrants are on target


श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में कश्मीरी हिंदुओं और आम नागरिकों पर आतंकी हमले बढ़ने से दहशत का माहौल है। आतंकियों ने पोस्टर चिपकाकर और लेटर भेजकर हिंदुओं को घाटी छोड़ने की धमकी दी है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस तरह की हरकतों से दहशतगर्द घाटी का अमन- चैन छीनने में लगे हुए हैं। बुधवार को कुलगाम में आतंकियों ने एक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी। पिछले 11 दिनों में यह छठवीं घटना है जब टारगेट किलिंग के जिए प्रवासी मजदूरों और कश्मीरी हिंदुओं को निशाना बनाया जा रहा है।

कुलगाम के काकरान गांव में आतंकियों ने बुधवार शाम राजपूत समुदाय के शख्स और पेशे से ड्राइवर सतीश कुमार सिंह को गोली मार दी। अधिकारियों के मुताबिक, सतीश सिंह के सिर और सीने में गोली मारी गई थी। सतीश के घर से कुछ दूरी पर तैनात दो पुलिसकर्मियों ने गोलीबारी की आवाज सुनी। जब वे वहां पहुंचे तो सतीश को खून से लथपथ पाया। सतीश को तुरंत श्रीनगर के अस्पताल ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

कश्मीर में 11 दिनों में 6 हमले
पिछले 11 दिनों में प्रवासियों और कश्मीरी पंडितों पर आतंकियों के हमले तेज हो गए हैं। घाटी में एक के बाद एक टारगेट किलिंग और हिंदुओं को कश्मीर छोड़ने की धमकी से लोगों में दहशत है।

-कश्मीर में टारगेट किलिंग की घटना 2 अप्रैल से बढ़ गई है जब पुलवामा में बिहार के दो प्रवासियों को गोली मारी गई।

-इसके अगले दिन पुलवामा जिले में दो गैर कश्मीरियों पर हमला किया गया। इसी दिन श्रीनगर में दो सीआरपीएफ जवानों को निशाना बनाया गया जिनमें से एक की मौत हो गई। 3 अप्रैल को ही शोपियां में एक कश्मीरी पंडित फार्मेसी मालिक को गोली मारकर घायल कर दिया गया।

-7 अप्रैल को पंजाब के प्रवासी मजदूर सोनू शर्मा पुलवामा के याडर गांव में एक आतंकी हमले में घायल हो गए।
-13 अप्रैल को कुलगाम के काकरान गांव में राजपूत समुदाय के ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

अक्टूबर में पांच दिनों में 7 नागरिकों की हत्या
घाटी में प्रवासी मजदूरों और कश्मीरी हिंदुओं को निशाना बनाने का सिलसिला पिछले साल अक्टूबर से जारी है। आतंकी हमलों का शिकार बने लोगों में ज्यादातर प्रवासी मजदूर थे जो नौकरी की तलाश में यहां आए थे। अक्टूबर महीने में आतंकियों ने 5 दिनों में 7 नागरिकों की हत्या कर दी थी। इनमें से एक कश्मीरी पंडित, एक सिख और दो गैर स्थानीय हिंदू शामिल थे।

हमले से कश्मीरी हिंदुओं में डर का माहौल
सतीश सिंह पर हमले से कश्मीर में राजपूत समाज में आक्रोश है। उनका कहना है कि उनके समाज ने आतंकवाद के दौर में भी घाटी नहीं छोड़ी। वह हमेशा आतंकवाद का सामना करते रहे। कश्मीर के हिंदू परिवारों में डर का माहौल है। उनका कहना है कि अगर उनके यहां रहने से आपत्ति है तो वे वहां से चले जाएंगे। हालांकि कश्मीर के स्थानीय लोग उनके समर्थन में आए हैं और हिंदू परिवारों को घाटी न छोड़ने के लिए कह रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here