Shiv sena ki Uddhav Thackarey government ko Raj Thackarey ne di deadline kaha 3 may tak Masjidon se hataye loudspeaker nahi to Mosque ke samne tej awaj me bajayenge Hanuman chalisa : महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने उद्धव ठाकरे की सरकार को दी चेतावनी 3 मई तक हटाएं लाउडस्पीकर नहीं तो मस्जिदों के सामने तेज आवाज में बजाएंगे हनुमान चालीसा

0
11


मुंबई : महाराष्ट्र नव निर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने एक बार फिर मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने का मुद्दा उठाया है। इस बार उन्होंने महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार को अल्टीमेटम देकर डेडलाइन तय की है। राज ठाकरे ने कहा कि अगर 3 मई तक सरकार मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं हटाएगी तो इसका परिणाम भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राज्य की मस्जिदों के सामने तेज आवाज में लाउडस्पीकर से हनुमान चालीसा बजाया जाएगा।

राज ठाकरे ने ठाणे की उत्तर सभा में राज्य की महाविकास आघाडी सरकार, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार, उप मुख्यमंत्री अजित पवार और संजय राउत पर जमकर हमला बोला। उन्होंने मुस्लिमों को चेताया की धर्म, को घर में रखें उसे रास्ते पर न लाएं।

‘धार्मिक नहीं सामाजिक मुद्दा’
राज्य सरकार और केंद्र सरकार से 3 मई को ईद तक मस्जिदों से लाउडस्पीकर निकालने का अनुरोध करते ठाकरे ने कहा की यदि लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए, एमएनएस मस्जिदों के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करेगी। राज अपने भाषण में बीजेपी, नरेंद्र मोदी और देवेंद्र फडणवीस पर बोलने से बचे। राज ठाकरे ने कहा कि मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने का मुद्दी धार्मिक नहीं, बल्कि सामाजिक है क्योंकि लाउडस्पीकर से सभी को परेशानी होती है।

‘मस्जिद पर लगे लाउड स्पीकर से देश को तकलीफ’
मुंब्रा स्थित मुस्लिम बस्तीयों से गिरफ्तार किए गए कथित आतंकियों की खबरे सुनाते हुए अपने एक मुस्लिम नेता सलीम शेख को मंच पर खड़ा कर राज ठाकरे ने कहा कि सलीम जहां रहता है वहां 95 प्रतिशत हिंदू लोग हैं फिर भी सलीम चुनकर आता है। राज ठाकरे ने मस्जिद पर लगे लाउड स्पीकर का मुद्दा उठाते हुए कहा क‍ि मस्जिद पर लगे लाउड स्पीकर से देश को तकलीफ हो रही है। इसमें धार्मिक विषय कहां से आया।

‘बीजेपी के गलत फैसले पर भी करेंगे आलोचना’
ठाकरे ने इस आलोचना का जवाब दिया कि वह 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर हमला करते थे, लेकिन प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का नोटिस प्राप्त होने के बाद उनके सुर बदल गए। उन्होंने कहा कि ऐसा बिलकुल नहीं है कि उनका राजनीतिक रुख बदलता रहा है। मनसे प्रमुख ने कहा कि अगर भाजपा सरकार ने कोई गलत फैसला लिया तो वह उसकी फिर से आलोचना करने से नहीं हिचकेंगे।

देश में समान नागरिक संहिता की मांग
समान नागरिक संहिता की वकालत करते हुए राज ठाकरे ने जनसंख्या वृद्धि को नियंत्रित करने की जरूरत पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस देश में समान नागरिक संहिता लागू करनी चाहिए। जनसंख्या वृद्धि को रोकने के लिए एक कानून लाया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here