Delhi News Criminal Came To Muthoot Finance Limiteds Office To Rob Gold, 4 Arrested Hindi News – 40 करोड़ का सोना लुटने से बचा, मुथूट फाइनेंस के ऑफिस में स्ट्रांग रूम तक पहुंच चुके थे बदमाश

0
18

गोविंदपुरी की पुलिस ने चार अंतरराज्यीय बदमाशों को गिरफ्तार किया

नई दिल्ली:

गोविंदपुरी की पुलिस ने चार अंतरराज्यीय बदमाशों को गिरफ्तार किया है. साथ ही उनके पास से गैस कटर, गैस सिलेंडर, ड्रिल मशीन, स्क्रू ड्राइवर और रॉड को बरामद किया. जानकारी के मुताबिक, आठ अप्रैल को TA ब्लॉक स्थित मुथूट फाइनेंस लिमिटेड में सेंधमारी के संबंध में अहले सुबह 02:00 बजे गोविंदपुरी थाने में एक पीसीआर कॉल प्राप्त हुई. सूचना मिलते ही पुलिसकर्मियों के साथ अधिकारी मौके पर पहुंचे. अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने सीसीटीवी फुटेज में चार लोगों को देखा था जो खिड़की तोड़कर कार्यालय के अंदर घुसे थे. 

यह भी पढ़ें

उन्होंने कहा कि अंदर प्रवेश करने के तुरंत बाद उन्होंने सीसीटीवी कैमरे के तार काट दिए. वे स्ट्रांग रूम में घुसने ही वाले थे, जहां 40 करोड़ रुपए का सोना रखा हुआ था. तब तक अलार्म बज चुका था और अलकनंदा स्थित उनके मुख्यालय पर अलर्ट पहुंच गया था. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए एक टीम गठित की गयी.  टीम ने इमारत के अंदर आरोपी व्यक्तियों की व्यापक रूप से  तलाश की. पुलिसकर्मियों द्वारा की गई सावधानीपूर्वक खोज से चार आरोपी व्यक्तियों को  गिरफ्तार किया गया , जो इमारत की छत पर पानी की टंकी के नीचे और बगल की इमारत के तहखाने में छिप हुए थे. 

उनकी पहचान सुरेंद्र शेट्टी पुत्र कलुआ निवासी बाझांग, नेपाल उम्र 36 वर्ष, अजुल शेख पुत्र नजाद शेख निवासी साहिबगंज, झारखंड आयु 51 वर्ष, सलमान शेख पुत्र सुकरुद्दीन शेख निवासी साहिबगंज, झारखंड उम्र 34 साल और राम गोविंद पुत्र लोटारी निवासी मालदा, पश्चिम बंगाल उम्र 41 साल के रूप में हुई. गोविंदपुरी थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. लगातार पूछताछ करने पर आरोपी सुरेंद्र ने खुलासा किया कि वह शाम को मैत्री बस से आनंद विहार पहुंचा और अपने एक दोस्त से मिला. उसका दोस्त उसे सलमान शेख, अजुल शेख और राम गोविंद के पास ले गया जो फरक्का एक्सप्रेस से दिल्ली पहुंचे. वे गोविंदपुरी मेट्रो स्टेशन पर मिले और फिर एक ई-रिक्शा से मुथूट फाइनेंस लिमिटेड के कार्यालय पहुंचे. उन्होंने स्ट्रांग रूम से सोना चुराने की योजना बनाई. आरोपी सलमान, जो इलेक्ट्रीशियन हुआ करता था, ने कार्यालय के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों के तारो को  काट दिया. वे भारी रकम  अर्जित करने के लिए यह अपराध करना चाहते थे. 

इसे भी पढ़ें: 

राहुल-प्रियंका को ‘किनारे हटने’ की सलाह देने वाले पार्टी प्रवक्ता को कांग्रेस ने पद से हटाया

झारखंड कांग्रेस में फूट? मंत्री के खिलाफ एकजुट हुए चार MLA, आलाकमान से करेंगे मुलाकात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here