Get Latest News, India News, Breaking News, Today's News – TODAYNEWSNETWORK.in

TNN (2)
Home Cities Delhi Metro News: मेट्रो ने लोगों के 26.90 करोड़ घंटे जाम में बर्बाद होने से बचाए, जल्दी पहुंचाया मंजिल तक – teri research shows delhi metro saved 269 million hours of travel time in 2021

Delhi Metro News: मेट्रो ने लोगों के 26.90 करोड़ घंटे जाम में बर्बाद होने से बचाए, जल्दी पहुंचाया मंजिल तक – teri research shows delhi metro saved 269 million hours of travel time in 2021

Delhi Metro News: मेट्रो ने लोगों के 26.90 करोड़ घंटे जाम में बर्बाद होने से बचाए, जल्दी पहुंचाया मंजिल तक – teri research shows delhi metro saved 269 million hours of travel time in 2021


विशेष संवाददाता, नई दिल्ली: द एनर्जी रिसर्च इंस्टीट्यूट (TERI) के द्वारा की गई एक स्टडी की रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि दिल्ली मेट्रो ने पिछले साल यात्रियों के 26.90 करोड़ घंटे ट्रैफिक जाम में बर्बाद होने से बचाए और लोगों को कम समय में उनके गंतव्य तक पहुंचाया। स्टडी में अनुमान लगाया गया है कि 2031 तक मेट्रो यात्रियों का इससे भी ज्यादा, या लगभग दोगुना समय बचाएगी और लोगों के 57.25 करोड़ घंटों की बचत होगी। दिल्ली समेत देशभर के बड़े शहरों में सड़क मार्ग से यात्रा करने में लोगों का जितना समय खर्च होता है, उसे देखते हुए ये आंकड़े बेहद महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि सड़कों पर ट्रैफिक कंजेशन लगातार बढ़ता जा रहा है और उसके चलते एक जगह से दूसरी जगह जाने में लगने वाला ट्रैवल टाइम भी बढ़ता जा रहा है।

Delhi Metro: मेट्रो स्टेशनों पर नहीं लगेंगी लंबी-लंबी लाइनें, तेजी से होगी पैसेंजरों के सामान की स्कैनिंग
इसके अलावा डीएमआरसी ने 5 लाख से ज्यादा गाड़ियों को सड़कों से दूर रखने में भी मदद की है। यह आंकड़ा 2019 से भी अधिक है, जब 4.74 लाख गाड़ियां मेट्रो की वजह से सड़कों पर नहीं निकलीं, क्योंकि जाम में फंसने के बजाय लोग मेट्रो से जाना ज्यादा पसंद किया। इससे दिल्ली में प्रदूषण को कम करने में भी बड़ी मदद मिल रही है। प्राकृतिक जीवाश्म वाले ईंधन से संचालित गाड़ियों के चलने से सड़कों पर धुआं निकलता है और उससे प्रदूषण फैलता है। वहीं जब लोग अपनी निजी गाड़ियां छोड़कर मेट्रो से यात्रा करते हैं, तो इससे प्रदूषण को रोकने में भी मदद मिलती है।

Delhi Metro News: बंदरों की धमाचौकड़ी से DMRC परेशान, स्टेशनों पर लगाए गए निर्देश, आप भी पढ़े लें…
रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली मेट्रो करीब 7 लाख टन प्रदूषक तत्वों को पर्यावरण से हटाने में मददगार साबित हुई है, जो अपने आप में बेहद महत्वपूर्ण आंकड़ा है। वैसे भी पर्यावरण को लेकर दिल्ली मेट्रो शुरू से ही काफी जागरूक, संवेदनशील और जवाबदेह संस्था के रूप में काम करती रही है। सोलर पावर के निर्माण और उसके इस्तेमाल के मामले में भी डीएमआरसी अपनी क्षमता को लगातार बढ़ा रही है, जिससे बिजली की बचत भी हो रही है।

अधिकारियों के मुताबिक, डीएमआरसी इस वक्त करीब 37 मेगावॉट सोलर पावर खुद जनरेट करती है, जिसका इस्तेमाल मेट्रो स्टेशनों पर लाइटिंग व अन्य कामों के लिए किया जाता है। इसके अलावा डीएमआरसी दुनिया की पहली ऐसी रेल आधारित संस्था या संगठन भी है, जिसे री-जनरेटिव ब्रेकिंग और अपने मॉडल शिफ्ट प्रयासों के लिए कार्बन क्रेडिट मिलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here